kamal-nath

विजन 2025

वक्त है बदलाव के नारे के साथ सत्ता में आई कमलनाथ सरकार विकास के लिए कई तरह के प्रयोग कर रही है। सरकार का ध्यान वर्तमान समय में विकास की योजनाओं के साथ ही आने वाले समय के विकास पर भी है। इसलिए मप्र की अगले पांच साल में विकास की दिशा क्या रहेगी, इसका खाका कमलनाथ सरकार ने खींचना शुरू कर दिया है। इसे विजन 2025 नाम दिया गया है। इसके तहत सभी विभागों को एक पखवाड़े में अगले पांच साल में किए जाने वाले कामों का खाका खींचने के लिए कहा गया। इसमें फोकस रोजगार और अधोसंरचना विकास पर रखा जा सकता है।
मुख्य सचिव सुधिरंजन मोहंती ने विभागों के आला अफसरों के साथ बैठक कर मुख्यमंत्री कमलनाथ की मंशा बता दी है। विजन 2025 के लिए समन्वय का जिम्मा मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक बर्णवाल को सौंपा गया है। वहीं, दस्तावेज को तैयार करने का काम सेवानिवृत्त अफसर प्रसन्न कुमार दास को दिया गया है। इसमें अगले पांच साल की कार्ययोजना शामिल की जाएगी। यह प्रदेश के अधोसंरचना व औद्योगिक विकास, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई और कृषि आदि विषयों पर फोकस रहेगा। इस डॉक्यूमेंट्स को तैयार कराने के लिए एजेंसी भी तय कर दी गई है।
मुख्यमंत्री कमलनाथ की मंशा है कि प्रदेश का विकास योजनाबद्ध तरीके से हो। हर विभाग अपनी एक कार्ययोजना बनाकर लक्ष्य तय करें और उसे हासिल करने की रणनीति पर काम करें। प्रदेश की सबसे बड़ी चुनौती युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराना है। इसके लिए उद्योगों के अनुकूल माहौल बनाना होगा, तभी वे निवेश करेंगे। यह काम भरोसे के बलबूते ही संभव है। यही वजह है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ उद्योगपतियों के साथ हर बैठक में यही भरोसे दिलाते हैं कि आप मध्यप्रदेश में निवेश करें, प्रदेश सरकार आपकी अपेक्षाओं की पूर्ति करेगी। हमारी शर्त सिर्फ इतनी है कि राज्य के नौजवान और स्थानीय व्यक्तियों को अधिक से अधिक रोजगार दिया जाए। इसी तरह रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश से रोजगार का माहौल बनेगा। इसके लिए भी नई नीति का खाका खींचा जा रहा है।
हालांकि कांग्रेस ने सरकार में आने से पहले अपने चुनावी घोषणा पत्र को वचन पत्र का नाम देकर प्रदेश की जनता से विकास के कई तरह के वादे किए थे। कमलनाथ सरकार का दावा है कि इनमें से 90 प्रतिशत दावे पूरे कर दिए गए हैं। सूत्रों का कहना है कि अब सरकार अगले पांच सालों के लिए विजन डॉक्यूमेंट्स तैयार करा रही है। विभागाध्यक्ष को इस संबंध में निर्देश भी जारी कर दिए गए हैं। अलग-अलग विभागों ने विजन डॉक्यमेंट्स के लिए योजना बनाना शुरू कर दी है। इधर, जिस कंपनी को विजन डॉक्यूमेंट्स बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है, उसकी टीम ने विभागवार जानकारी जुटाना शुरू कर दी है।
सरकार द्वारा तैयार करवाए जा रहे विजन 2025 के बारे में कांग्रेस प्रवक्ता भूपेंद्र गुप्ता का कहना है कि सरकार की मंशा प्रदेश के विकास के लिए तेजी से और सही दिशा में काम करने की है। जिसके लिए यह जरुरी कदम उठाए जा रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार चाहती है, कि राज्य का विकास योजनाबद्ध तरीके से हो। इसलिए सभी विभाग अगले पांच साल की योजनाओं पर अभी से काम शुरु कर दे। भूपेंद्र गुप्ता कहते हैं कि मुख्यमंत्री कमलनाथ पिछले दिनों अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश दे चुके हैं। मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी चुनौती रोजगार के संसाधन पैदा करना और प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा उद्योगों को स्थापित करना है। साथ ही उन्होंने कहा कि इससे ही प्रदेश में भरपूर निवेश आ सकेगा।
-कुमार राजेंद्र