Untitled-1

अफ्रीका की अग्नि परीक्षा

दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट टीम का भारत दौरा 15 सितंबर से शुरू हो गया है। इस दौरे में भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन-तीन मैचों की टी-20 और तीन टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जानी है। 15 सितंबर को टी-20 सीरीज का पहला मैच खेला जाना है।
अब तक दोनों टीमें एक-दूसरे के खिलाफ टी-20 सीरीज में 14 बार आमने-सामने हुई हैं। जिसमें से भारत ने आठ और दक्षिण अफ्रीकी टीम ने पांच मुकाबले जीते हैं। एक मैच का नतीजा नहीं निकला है। टी-20 मैच में पहली बार इन दोनों टीमों की भिड़ंत 2006 में दक्षिण अफ्रीका के वांडरर्स स्टेडियम में हुई थी। भारत ने वह मैच छह विकेट से जीता था। आखिरी बार इन दोनों टीमों की तीन मैचों की टी-20 श्रृंखला 2018 में हुई थी, जब भारत ने दक्षिण अफ्रीका का दौरा किया था और मैन इन ब्लू ने 2-1 से श्रृंखला जीती थी।
दोनों टीमों के बीच खेले गए टी-20 मैच का सर्वाधिक स्कोर 219 है। जो 2012 में दक्षिण अफ्रीका ने बनाया था। वहीं भारत ने 2015 में अफ्रीका टीम को 92 रन पर आल आउट किया था इन दोनों टीमों के बीच में यह सबसे कम टीम टोटल स्कोर है। दोनों टीमों के बीच खेले गए टी-20 मुकाबले में रोहित शर्मा ने सबसे अधिक 341 रन बनाए हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रोहित शर्मा का सर्वाधिक स्कोर 106 है, जो उन्होंने 2015 में धर्मशाला के मैदान पर यह पारी खेली थी। इन दोनों टीमों के बीच मैच में दो शतक लगे हैं। दोनों ही शतक भारतीय खिलाडिय़ों ने लगाए एक रोहित शर्मा और दूसरा सुरेश रैना द्वारा बनाया गया हैं। इन दोनों टीमों के बीच मैचों में कुल 19 अर्धशतक लगे हैं।
दक्षिण अफ्रीका के जेपी डुमिनी द्वारा बनाया गया तीन अर्धशतक इन दोनों टीमों के बीच मैचों में किसी खिलाड़ी द्वारा बनाया गया सबसे अधिक अर्धशतक है। आर अश्विन द्वारा लिए गए 10 विकेट इन दोनों टीमों के बीच खेले गए अब तक के टी-20 मुकाबले में किसी खिलाड़ी द्वारा लिए गए सबसे अधिक विकेट है। 2018 में भुवनेश्वर कुमार ने 5.24 का आंकड़ा दर्ज किया था। जो इन दोनों टीमों के बीच सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी प्रदर्शन है। दोनों टीमों के बीच टी-20 मैचों में पांच विकेट लेने वाले भुवनेश्वर इकलौते खिलाड़ी हैं।
सीरीज शुरु होने से पहले अफ्रीकी तेज गेंदबाज कगीसो रबाडा ने जुबानी जंग शुरू कर दी है। रबाडा ने कहा कि उन्हें उपमहाद्वीप में खेलने के पिछले अनुभव का फायदा मिलेगा। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में खेला जाएगा। दक्षिण अफ्रीका ने भारत के पिछले दौरे पर टी-20 और वनडे सीरीज जीत ली थी लेकिन टेस्ट में हार गई थी।
भारतीय टीम में पिछले कुछ समय से कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल टी-20 मैचों में टीम इंडिया का अहम हिस्सा रहे हैं, लेकिन दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज में दोनों को टीम में शामिल नहीं किया गया है। चीफ सलेक्टर एमएसके प्रसाद ने बताया है कि आखिर क्यों इन दोनों को इस सीरीज में खेलने का मौका नहीं दिया जा रहा है।
कुलदीप और युजवेंद्र को वेस्टइंडीज दौरे पर भी टी-20 सीरीज में खेलने का मौका नहीं मिला था। प्रसाद ने कहा कि ये दोनों अगले साल आस्ट्रेलिया में होने वाले आईसीसी वल्र्ड टी-20 के लिए उनकी योजनाओं का हिस्सा बने रहेंगे। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 15 सितंबर से धर्मशाला में शुरू हो रही तीन टी-20 मैचों की सीरीज के लिए राहुल चाहर और वाशिंगटन सुंदर को भारतीय टीम में शामिल किया गया है। ये दोनों स्पिनर पिछले महीने कैरेबियाई दौरे पर भी गए थे। प्रसाद ने कहा, ‘हम आईसीसी टी-20 वल्र्ड को देखते हुए स्पिन बालिंग डिपार्टमेंट में विविधता लाने के लिए युवाओं को आजमा रहे हैं। पिछले दो साल में चहल और कुलदीप ने छोटे टी-20 में शानदार प्रदर्शन किया है। निश्चित तौर पर वे अब दौड़ में आगे हैं। बात सिर्फ इतनी सी है कि हम अब कुछ और विकल्पों को आजमा रहे हैं।Ó
-आशीष नेमा