khel0

इंग्लैंड ने पहली बार जीता वल्र्ड कप

इंग्लैंड पहली बार वल्र्ड कप चैम्पियन बन गया। क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉड्र्स के मैदान पर रविवार को खेले गए सबसे दिलचस्प फाइनल में इंग्लैंड विजेता बना। इसी के साथ श्रीलंका (1996) के 23 साल बाद क्रिकेट को नया चैम्पियन मिल गया। वल्र्ड कप इतिहास में पहली बार फाइनल में सुपर ओवर खेला गया। यह भी पहली बार हुआ, जब मैच और सुपर ओवर, दोनों टाई हो गए। न्यूजीलैंड ने पहले 241 रन बनाए। इंग्लैंड की टीम 241 रन पर ही ऑलआउट हो गई। सुपर ओवर में इंग्लैंड ने 15 रन बनाए। न्यूजीलैंड ने इस लक्ष्य की बराबरी तो कर ली, लेकिन जीत के लिए जरूरी एक रन बनाने से चूक गया। पूरे मैच में इंग्लैंड ने 26 और न्यूजीलैंड ने 17 बाउंड्री लगाईं। ज्यादा बाउंड्री लगाने की वजह से इंग्लैंड को विजेता घोषित किया गया।
इंग्लैंड वल्र्ड कप जीतने वाला छठा देश बना। इससे पहले वेस्टइंडीज, भारत, ऑस्ट्रेलिया, पाकिस्तान और श्रीलंका खिताब जीता था। न्यूजीलैंड की टीम लगातार दूसरे फाइनल में हार गई। पिछली बार उसे ऑस्ट्रेलिया ने हराया था। इंग्लैंड का यह चौथा फाइनल है। इससे पहले वह 1992 में पाकिस्तान, 1987 में ऑस्ट्रेलिया और 1979 में वेस्टइंडीज के खिलाफ हार गया था।
खिताब जीतने पर ईनाम के तौर पर उसे 28 करोड़ रुपए दिए गए। वहीं, फाइनल मुकाबला हारने वाली न्यूजीलैंड की टीम को 14 करोड़ रुपए ही मिले। चैम्पियन बनने वाली टीम को सोने-चांदी से बनी 11 किलो की ट्रॉफी भी दी गई। न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन को प्लेयर ऑफ द टूर्नामेंट और इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड दिया गया। विलियम्सन ने 8 पारियोंं में 548 रन बनाए थे। उनकी कप्तानी में न्यूजीलैंड की टीम फाइनल तक पहुंची। वहीं, स्टोक्स ने फाइनल में 98 गेंद पर 85 रन बनाए।
-आशीष नेमा