pahal

औद्योगिक विकास की बढ़ी आस

दावोस में आयोजित विश्व आर्थिक सम्मेलन में कई उद्योगपतियों ने मप्र में निवेश के लिए जिस तरह का उत्साह दिखाया उससे प्रदेश में औद्योगिक विकास की आस जगी है। इस सम्मेलन में विश्व के 3200 उद्योग एवं व्यापार प्रतिनिधि और 100 देश के राष्ट्र प्रमुख शामिल हुए। सम्मेलन में मध्यप्रदेश में निवेश की संभावनाओं के बारे में उद्योगपतियों से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने देश के बड़े उद्योगपतियों से वन-टू-वन भेंट कर उन्हें मध्यप्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ सभी उद्योगपतियों ने उत्साहपूर्वक चर्चा की और प्रदेश में हर प्रकार की संभावनाओं को तलाश कर निवेश करने का भरोसा दिया।
विश्व आर्थिक मंच पर मुख्यमंत्री नाथ ने अडानी ग्रुप के गौतम अडानी, वेलस्पन ग्रुप के बीके गोयनका, डालमिया ग्रुप के पुनीत डालमिया, भारत फोर्ज के अमित कल्याणी, ट्राइडेंट ग्रुप के राजिंदर गुप्ता, अडानी पावर के अनिल सरदाना, अमर राजा ग्रुप के जयदेव गाल्ला, वीई कॉमर्शियल्स के राहुल राय, आईनॉक्स ग्रुप के सिद्धार्थ जैन, सन ग्रुप के शिव खेमका, ट्राईमेक्स ग्रुप के प्रदीप कोनेरू, आरएमजेड कॉर्प के मनोज मेंडा, भारती इंटरप्राइजेज के राकेश भारती मित्तल, रिन्यू पावर के सुमंत सिन्हा, सुजलॉन एनर्जी के तुलसी तांती और लुलु ग्रुप के एमए यूसुफ अली से मुलाकात की।
मुख्यमंत्री नाथ ने सभी उद्योगपतियों को प्रदेश की निवेश नीतियों और राज्य सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाओं के बारे में विस्तार से बताया। उद्योगपतियों के साथ मुलाकात में मुख्यमंत्री के साथ मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव एसआर मोहंती, प्रमुख सचिव उद्योग मोहम्मद सुलेमान और मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक बर्णवाल भी मौजूद थे। अपनी यात्रा के दौरान मुख्यमंत्री ने दावोस में सीआईआई और मध्यप्रदेश सरकार के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित ‘इन्वेस्ट मध्यप्रदेशÓ कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि निवेश की मांग नहीं की जा सकती। निवेश को बेहतर प्रबंधन के साथ निमंत्रित किया जा सकता है। निवेश को निमंत्रित करने के लिए प्रदेश में सकारात्मक माहौल बनाने की आवश्यकता होती है। हम मध्यप्रदेश में ऐसा वातावरण तैयार कर रहे हैं, जिससे प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा निवेश को आकर्षित किया जा सके। हम प्रदेश में निवेश और बिजनेस को सरल, सुगम और लाभकारी बनाने पर काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने प्रतिभागी उद्योगपतियों को मध्यप्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम उद्योगपतियों को बिजनेस के लिए सबसे बेहतर परिस्थितियां और माहौल उपलब्ध कराएंगे।
कांफ्रेंस में दुबई लूलू ग्रुप के एमए यूसुफ अली ने मुख्यमंत्री को विश्वास दिलाया कि कंपनी द्वारा मध्यप्रदेश में कंवेशन सेंटर की स्थापना की जाएगी। वेलस्पन ग्रुप के बीके गोयनका ने जलापूर्ति एवं आधारभूत संरचना में निवेश का भरोसा दिया। ट्राईडेंट ग्रुप के राजिंदर गुप्ता ने प्रदेश में शीघ्र ही टेक्सटाइल क्षेत्र में निवेश करने का आश्वासन दिया, जिसमें 10 हजार लोगों के लिए रोजगार की संभावनाएं पैदा होंगी। मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने सभी उद्योगपतियों को ‘इंवेस्टमेंट इन मध्यप्रदेशÓ विषयक प्रेजेंटेशन दिया। प्रेजेंटेशन में उद्योगपतियों को प्रदेश में निवेश की संभावनाओं और अनुकूल वातावरण की विस्तार से जानकारी दी गयी। कांफ्रेंस में हेल्थ केयर, शिक्षा, निर्माण सहित विभिन्न क्षेत्रों के उद्योगपति शामिल हुए।
मुख्यमंत्री कमल नाथ ने वल्र्ड इकॉनामिक फोरम के शुभारंभ सत्रों के दौरान कई राजनयिकों और व्यापार प्रतिनिधियों से भेंट की। कमल नाथ ने साउथ अफ्रीका के व्यापार एवं निवेश मंत्री रॉब डेविस से मुलाकात की। इसके अलावा मुख्यमंत्री प्रॉक्टर एंड गेम्बल के एशिया पैसिफिक, इंडिया एंड अफ्रीका के प्रेसीडेंट मंगेश्वरण सुरंजन से मिले और मध्यप्रदेश में निवेश को लेकर चर्चा की।
– सुनील सिंह