vivad

ब्रांड एंबेसडर का कॉन्ट्रेक्ट खलास

देश में कथित असहिष्णुता को लेकर टिप्पणी के कारण विवाद में आए बालीवुड अभिनेता आमिर खान अब सरकार के अतुल्य भारत अभियान में नजर नहीं आएंगे। आमिर का अनुबंध समाप्त हो चुका है। सरकार के इस कदम से यह चर्चा होने लगी है कि आखिर ऐसी क्या वजह है कि सरकार कभी आमिर से दुश्मनी तो कभी दोस्ती दिखा रही है। हालांकि केंद्रीय पर्यटन मंत्री ने कहा है है कि हमारा अतिथि देवो भव अभियान के लिए मैक्केन वल्र्डवाइड के साथ अनुबंध था। एजेंसी ने इस काम के लिए आमिर की सेवा ली थी। अब एजेंसी के साथ अनुबंध खत्म हो गया है। मंत्रालय ने आमिर की सेवा नहीं ली थी। उन्होंने कहा, यह एजेंसी थी, जिसने उनकी सेवा ली थी। चूंकि एजेंसी के साथ अब अनुबंध नहीं रहा, अभिनेता के साथ व्यवस्था भी अब खुद ब खुद खत्म हो गई है। यह बात खास तौर पर पूछे जाने पर कि क्या आमिर अभी तक पर्यटन मंत्रालय के ब्रांड एम्बेसडर हैं, मंत्री ने कहा, निश्चित तौर पर नहीं। अतिथि देवो भव अभियान अतुल्य भारत अभियान का अंग है जिसे यूपीए शासनकाल में शुरू किया गया था।
लेकिन दूसरी तरफ सरकार के इस कदम को दूसरे नजरिए से भी देखा जा रहा है। वह इसलिए की इसी आमिर की फिल्म को गुजरात की सरकार ने अपने यहां प्रदर्शित नहीं होने दिया था। ऐसे में अतुल्य भारत अभियान से आमिर को हटाए जाने के मामले को उनके असहिष्णुता पर दिए गए बयान से जोड़कर देखा जा रहा है। लेकिन इस मुद्दे ने अब राजनीतिक रंग ले लिया है। कांग्रेस समेत कुछ विपक्षी दलों ने तो यहां तक कह दिया है कि कंपनी तो सिर्फ बहाना है ये आमिर खान पर मोदी सरकार का निशाना है।
गौरतलब है कि आमिर खान उस वक्त विवादों में घिर गए थे, जब उन्होंने भारत में कथित तौर पर असहिष्णुता बढऩे की बात कही थी। आमिर ने आठवें रामनाथ गोयनका अवॉर्ड्स कार्यक्रम में कहा था पिछले 6-8 महीने से असुरक्षा और डर की भावना समाज में बढ़ी है। यहां तक कि मेरा परिवार भी ऐसा ही महसूस कर रहा है। मैं और मेरी पत्नी किरण ने पूरी जिंदगी भारत में जी है, लेकिन पहली बार उन्होंने मुझसे देश छोडऩे की बात कही। उन्हें अपने बच्चे के लिए डर लगता है। उन्हें इस बात का भी डर है कि आने वाले समय में हमारे आसपास का माहौल कैसा होगा? वह जब अखबार खोलती हैं तो उन्हें डर लगता है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अशांति बढ़ी है। आमिर अपने बयान के बाद कई लोगों और संगठनों के निशाने पर आ गए थे।
आमिर खान ने कहा है कि वे अतुल्य भारत अभियान के ब्रांड एंबेस्डर रहें या ना रहें भारत अतुल्य रहेगा। आमिर खान ने आगे कहा, दस साल तक अतुल्य भारत का ब्रांड एंबेस्डर रहना मेरे लिए सम्मान की बात थी। मैं देश के लिए अपनी सेवाएं देकर खुश हूं और मैं आगे भी हमेशा उपलब्ध रहूंगा। आमिर ने कहा, मैं स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैंने अभी तक लोकहित में जो भी काम किया है वह बिना पैसे के किया। यह निर्णय सरकार का निर्णय है कि वह किसे अभियान का ब्रांड एंबेस्डर बनाती है। मैं सरकार के फैसले का सम्मान करता हूं। मुझे विश्वास है कि सरकार आगे के लिए उचित निर्णय लेगी। उधर, मैक्केन वल्र्डवाइड एजेंसी के मुखिया और गीतकार प्रसून जोशी ने इस मुद्दे पर सफाई दी है। प्रसून जोशी ने कहा है कि मैक्केन का पर्यटन मंत्रालय के साथ सामाजिक जागरुकता अभियान अतिथि देवो भव को लेकर समझौता हुआ था। आमिर खान ने इसमें अपना सहयोग दिया था। अब कहा जा रहा है कि  महानायक अमिताभ बच्चन अतुल्य भारत अभिनायन के नए ब्रांड एंबेस्डर होंगे। अमिताभ बच्चन अभी गुजरात पर्यटन विभाग के ब्रांड एंबेस्डर हैं। इससे पहले अमिताभ बच्चन उत्तर प्रदेश सरकार के ब्रांड एंबेस्डर रह चुके हैं।
40 सितारों की घटाई गई सिक्योरिटी
बॉलीवुड सेलेब्स की सिक्यारिटी को लेकर मुंबई पुलिस ने एक बड़ा फेरबदल किया है। हाल ही लिए गए मुंबई पुलिस के फैसले के अनुसार बॉलीवुड के बादशाह शाहरूख खान और मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान समेत 40 अन्य सितारों की सुरक्षा घटा दी गई है। शाहरुख खान और आमिर खान ने कुछ दिनों पहले देश में बढ़ती कथित असहिष्णुता पर बयान दिया था, जिसके बाद उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई थी। मुंबई पुलिस का कहना है कि अब इन अभिनेताओं को कोई खतरा नहीं है। ऐसे में केवल दो हथियारबंद सैनिक इनकी सुरक्षा में तैनात रहेंगे। सूत्रों की मानें तो शाहरुख खान ने खुद ही सुरक्षा कम करने का प्रस्ताव रखा था। मुंबई पुलिस के मुताबिक वह अब तक 40 बॉलीवुड सितारों को सुरक्षा दे रहे थे जो आंकड़ा घटकर केवल 15 रह जाएगा। ताजा फैसले के अनुसार केवल उन 15 सेलिब्रिटीज को सुरक्षा दी जाएगी, जिन्हें पहले धमकियां मिल चुकी है। सूत्रों की मानें तो जिन फिल्मी हस्तियों की सुरक्षा पूरी तरह हटा ली जाएगी, उनमें विधु विनोद चोपड़ा, राज कुमार हिरानी, फराह खान, करीम मोरानी और कुछ अन्य लोग शामिल हैं। वहीं जिन लोगों का सिक्योरिटी कवर जारी रहेगा उनमें अक्षय कुमार, महेश भट्ट, मुकेश भट्ट, अमिताभ बच्चन, दिलीप कुमार और लता मंगेशकर शामिल हैं।
-बिन्दु ऋतेन्द्र माथुर