yuva

रूरल मैनेजर: शहर में शिक्षा, गांव में कॅरियर!

गौरव चौधरी एमबीए हैं। उन्होंने दिल्ली स्थित एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम भी किया है लेकिन उनका मन ऑफिस से अधिक गांवों में रमता था। इसलिए एक दिन वे नौकरी छोड़ और चल दिए

vyapamam

अब पूर्व अध्यक्षों पर गिरेगी गाज

व्यावसायिक परीक्षा मण्डल के गड़े मुर्दे ज्यों ज्यों उखड़ रहे हैं, कुछ नई सच्चाई भी सामने आ री है। इस बार कटघरे में हैं व्यापमं के पूर्व अध्यक्ष जिनके कार्यकाल में विभिन्न परीक्षाओं में जमकर

vyang

मुझको जिताओ, अपना बिहार बचाओ!

चाणक्य की भूमि बिहार…जहां आज तक किसी ने नहीं मानी हार। भले ही अखाड़े में वे अपने प्रतिद्वंदी से रोज पछाड़ खाते हों, लेकिन उनकी हिम्मत देखिए कि वे हार नहीं मानते। जब धूल-मिट्टी के

porn2

‘पोर्नÓ पर कास्मेटिक बैन क्यों…?

केंद्र सरकार ने पहले तो 857 के करीब पोर्न साइट्स को बैन कर दिया और फिर बाद में 700 से अधिक पोर्न साइट्स पर से प्रतिबंध हटा लिया। ये सब किया गया 48 घंटे के अंतराल से। हटाने और

vidheyak

व्हिसिलब्लोअर विधेयक अब नहीं है मारक?

व्हिसिलब्लोअर विधेयक भले ही आने वाले दिनों में पारित हो जाये किंतु इसकी ‘मारक क्षमताÓ इतनी कम कर दी गई है कि भ्रष्ट्र लोकसेवकों और अफसरों को  बच निकलने का मौका अवश्य

usha kiran

हिंसा पीडि़ताओं के लिए उषा किरण केंद्र

मप्र में महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा धरेलू हिंसा की शिकार महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए 2007-08 में उषा किरण योजना शुरू की गई थी। उषा किरण योजना के तहत पीडि़तों को

up

राजभवन और सरकार में बढ़ी रार

उत्तर प्रदेश में इनदिनों राजभवन और सरकार के बीच टकराव शुरू हो गया है। आलम यह है कि राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनकी सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल

siysat0

प्रचारकों की कमी से जूझ रहा संघ

लोकसभा चुनाव में भाजपा को मिली ऐतिहासिक जीत अकेले भाजपा या नरेंद्र मोदी का कमाल नहीं है, बल्कि इस जीत के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की मैदानी रणनीति और प्रचारकों ने महत्वपूर्ण

samudaek pulsing

पीडि़तों को मिलेगा पुलिस का दुलार

सामुदायिक पुलिसिंग के तहत मध्य प्रदेश में पुलिस और जनता के बीच बेहतर समन्वय बनाने के मकसद से सरकार पुलिस का चेहरा बदलने की तैयारी में जुट गई है। इसके तहत राज्य योजना

rakesh-sahni

एनवीडीए में नियुक्ति पर विवाद

पूर्व मुख्य सचिव और मध्यप्रदेश विद्युत नियामक आयोग के चेयरमेन रहे राकेश साहनी का एनवीडीए के चेयरमेन के पद पर पुनर्वास विवादों में घिरता नजर आ रहा है। साहनी दिसंबर 2014 तक

purvottar

आसान नहीं है नगालैंड में उग्रवाद के खात्मे की राह

पूर्वोत्तर के सबसे पुराने उग्रवादी संगठन नेशनल सोशलिस्ट कॉन्सिल ऑफ नगालैंड (एनएससीएन) के इसाक-मुइवा गुट के साथ हुए समझौते को केंद्र सरकार भले ऐतिहासिक बता कर अपनी पीठ

sushma

विवादित मानसून सत्र

पूवार्नुमानों को सच साबित करते हुए संसद का मॉनसून सत्र ‘तूफानीÓ साबित हुआ और बिना किसी विधेयक के पास हुए ही यह सब समाप्त हो गया। भारतीय इतिहास में यह पहला संसद का सत्र रहा

rto

मप्र में फल-फूल रहा अवैध ट्रेवल एजेंसी का गोरखधंधा

मप्र में अवैध टूर एंड ट्रेवल्स का गोरखधंधा तेजी से फलफूल रहा है। कोई भी अपनी मर्जी से कहीं पर भी ट्रेवल एजेंसी का बोर्ड लगाकर गाडिय़ां किराए पर देना शुरू कर देता है। आरटीओ का ऐसे लोगों

naxal

मप्र के जंगल नक्सलियों की पनाहगार

छत्तीसगढ़ की सीमा से लगे मध्यप्रदेश के घने जंगल माओवादियों की पनाहगार बनते जा रहे हैं। माओवादियों के लिए ओडिशा, महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश सुरक्षित पनाहगार है। छत्तीसगढ़ की सीमा से

congressbhawan

प्रचार में ही फेल, कैसे बनेगा कांग्रेस का खेल

जब आप यह समाचार पढ़ रहे होंगे तब उज्जैन, मुरैना सहित 10 नगरीय निकाय चुनावों के परिणाम आ चुके होंगे और जैसी करनी, वैसी भरनी की तर्ज पर कांग्रेस की अधिकांश जगह हार हो चुकी

maharastra

आतंक की वापसी?

जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर हाइवे और जवाहर टनल के आसपास का इलाका पंजाब में आतंकवाद बाद से ही शांत था लेकिन यह खामोशी पिछले तीन माह से टूट चुकी है। लगभग छह बार आतंकियों ने

khel -kabddi

गांव-देहात के खेल कबड्डी को लगे प्रो पंख

गंाव-देहात, धूल-मिट्टी का खेल कबड्डी अब गांवों की अपेक्षा शहरों में चमक बिखेर रहा है। दरअसल, क्रिकेट की तरह कबड्डी को भी आयोजक और प्रायोजकों का साथ मिल गया है। उस पर बॉलीवुड

sadak hadasha

खूनी बनी भोपाल की सड़कें

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में बरसात की कुछ बौछारों से ही उखड़ चुकी सड़कों पर चलना है तो बेहतर है अपना बीमा करा लिया जाए। क्योंकि विश्व के इतिहास में संभवत: पहली बार ऐसी

film0000

जरूरी नहीं फिल्मी बैकग्राउंड

बचपन में जब अनुष्का शर्मा अपने प्रिय अभिनेता शाहरुख खान और अक्षय कुमार की फिल्में देखती थीं, तो अक्सर अपनी मां से मजाक में कहा करती थी, Óमां, देखना मैं एक दिन शाहरुख और अक्षय

film 01

इंडस्ट्री में हम शक्लों का भी बोलबाला

किसी बड़े और ख्यातिप्राप्त व्यक्ति का हमशक्ल होना भी एक अलग तरह की कैद है। यह कैद आपको जिंदगी भर किसी और की छवि में जकड़े रखती है। आप चाहकर भी उससे आजाद नहीं हो सकते।

dilli darbar

मोदी की वर्किंग स्टाइल से डरे अफसर

केन्द्र में मोदी की सरकार को दबे छुपे शब्दों में गुज्जू सरकार कहने से लोग नहीं चूकते। कारण स्पष्ट है कि गुजरात के खोटे सिक्के भी केन्द्र में अच्छी तरह चल रहे हंै।  लेकिन बाकी राज्यों के खरे

augest cover-ii

बहुप्रतीक्षित की प्रतीक्षा कब तक?

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में सरकारी गैराज के कुछ मुलाजिम गाडिय़ों को यदा-कदा चमकाते हैं, धोते हैं, साफ करते हैं और फिर वे गाडिय़ां धूल खाने लगती है। हर बार जब भी मंत्रिमंडल

cg

किसानों की कब्रगाह बना छत्तीसगढ़!

इसे कहानी कहें या त्रासदी, लेकिन है यह  सत्य है कि छत्तीसगढ़ सरकार किसानों के लिए जितनी योजनाएं शुरू कर रही है, वहां उतने ही किसानों के आत्म हत्या के मामले बढ़ रहे हैं। आलम यह है

cedmap0

अरेरा क्लब ने भी खदेड़ा तिवारी को

कभी अपने रसूख से अच्छे-अच्छों को पानी भरवाने वाले सेडमैप के पूर्व कार्यकारी निदेशक जितेंद्र तिवारी की स्थिति अब ऐसी हो गई है कि वे न घर(सेडमैप)के रहे न घाट (दोस्त भी नहीं दे रहे

bundelkhand

7266 करोड़ भी, नहीं बुझा सके बुंदेलखंड की प्यास

पानी के संकट से जूझ रहे बुंदेलखण्ड की प्यास बुझाने को पांच वर्ष पूर्व केंद्र ने 7266 करोड़ रुपये की राशि एक विशेष पैकेज के तहत मप्र तथा यूपी के 13 जिलों को दिए लेकिन हजारों करोड़ रुपये

bihar 1

बाहरियों पर बिहार फतह की जिम्मेदारी

बिहार भाजपा में अंतरद्वंद्व छिड़ा हुआ है। बाहरी और भीतर की कशमकश में पार्टी जूझ रही है। दिलचस्प यह है कि जो गलती दिल्ली में की गई थी वही बिहार में दोहराने की तैयारी है। पैराशूट से नेता

bazar

सफेद हाथी बना सेज

स्पेशल इकोनॉमिक जोन (सेज) अब भारत सरकार के लिए सफेद हाथी बनता जा रहा है। एक तरफ तो बड़े उद्योग मौके की जमीने खरीद कर अपना लैंड बैंक बना रहे हैं वहीं दूसरी तरफ जिन जमीनों

bangladesh.jpeg00

कोई नहीं रहना चाहता बांग्लादेश में!

68 साल के लंबे इंतजार के बाद भारत और बांग्लादेश के 50,000 लोगों को अपनी पसंद के देश में रहने की आजादी तो मिल गई, किंतु कड़वा सच यह है कि इन 50,000 में से एक भी बांग्लादेश नहीं

adhyatm

सत्य का आनंद – सच्चिदानंद

शास्त्रों में जगत को मिथ्या बताया गया है और आत्मा सत्य मानी गई है। तात्पर्य यह है कि आत्मा में ही सत है। इसलिए अपने आत्म स्वरूप में रहकर ही सत की तलाश की जा सकती है। प्रश्न यह

aashiyana0

पक्का आशियाना मिला नहीं, कच्चा घरौंदा भी गया

एक तरफ तो देश और मध्यप्रदेश में हर गरीब को रोटी, कपड़ा के अलावा मकान देने की मुहिम चलाई जा रही है और दूसरी तरफ सरकार द्वारा गरीबों के आवास तोड़कर उन्हें वैकल्पिक आवास तक

vyang cartoon

न निशाना ठीक, नहीं तुक्का!

सच बोला है किसी ने कि बाजी पलटते देर नहीं लगती। जो बीजेपी कल तलक मनमोहनजी को घोटालों पर चुप्पी साधे रखने के लिए ताने मारा करती थी, आज उसी की सरकार के प्रधानमंत्रीजी की

vijay shah 01

विजय शाह की बदजुबानी से भाजपा परेशान

मध्य प्रदेश के खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग मंत्री विजय शाह हमेशा सुर्खियों में बने रहते हैं। रंगीन मिजाज शाह का शौक और उनकी बदजुबानी हमेशा संगठन और सरकार के

vidhansabh00

गतिरोध से व्यथित हैं स्पीकर डॉ. शर्मा

मध्यप्रदेश विधान के विद्वान, मृदुभाषी और अध्ययनशील अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा सदन की कार्यवाही में विधायकों द्वारा किये जा रहे हंगामें से व्यथित हैं और इस व्यवस्था को हर हाल में

videsh1

भारत-पाक संबंध: एक कदम आगे, दो कदम पीछे

अस्तित्व में आने के समय से ही जहां पाकिस्तान अत्यंत अस्थिर और सेना की कृपादृष्टि पर आश्रित रहा है वहीं इसके शासक अपनी सेना को उकसाने के लिए कश्मीर की समस्या का इस्तेमाल करते

uppsc_p_070114

एसडीएम बनने वाले आधे से ज्यादा यादव

उत्तरप्रदेश में विधानसभा से संसद तक यादवों को प्रमुखता देने के बाद अब प्रशासन का ‘यादवीकरणÓ अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव के इशारे पर किया जा रहा है, लेकिन इससे व्यापमं जैसे

siyasat0000

मोदी को ‘फ्री-हैंडÓ देकर पछता रहा संघ!

केंद्र में पिछले साल नरेंद्र मोदी सरकार बनाने के साथ ही सवाल उठने लगे थे कि क्या सरकार के कामकाज में अब आरएसएस का दखल बढ़ जाएगा? पूर्व प्रचारक मोदी आरएसएस को अब कितनी

mahila jagat

सिंगल मदर: कामयाब भी, अच्छी मां भी

आज महिलाएं खुद फैसले ले रही हैं और क्यों न लें, वे पढ़ी-लिखी हैं, कामयाब हैं, उन्हें अपनी जिंदगी अपनी आजादी से जीने का हक है। आज सिंगल मदर बिना पुरुषों के खुद घर और बाहर की

khel02

43 साल बेमिसाल भारतीय टेनिस के ..

19 जुलाई का दिन भारतीय टेनिस जगत के लिए दो खुशखबरी लेकर आया पहले लड़कों के वर्ग में सुमित नागल ने डबल्स का जूनियर खिताब जीता और उसके दो घंटे बाद ही लिएंडर पेस और उनकी

jangalnama

शिकार से नहीं, बीमारी और आपसी लड़ाई से मरे मप्र के बाघ

टाइगर स्टेट का दर्जा छिन जाने के बाद भी मप्र में बाघों के संरक्षण और संवर्धन के लिए कोई ठोस उपाय नहीं हुए हैं। इस कारण प्रदेश में पिछले पांच साल में 69 बाघों की मौत हो चुकी है। लेकिन

file

मैं तुम्हारे साथ डेट करूंगा, लेकिन शादी कभी नहीं करूंगा : ऋषि

बॉलिवुड की सबसे रोमांटिक और खूबसूरत जोडिय़ों में से एक है ऋषि कपूर और नीतू सिंह की जोड़ी, जिनकी लव-स्टोरी भी उतनी ही मजेदार है। करण जौहर के साथ एक इंटरव्यू में ऋषि और नीतू ने

film 01

इंडस्ट्री में हम शक्लों का भी बोलबाला

किसी बड़े और ख्यातिप्राप्त व्यक्ति का हमशक्ल होना भी एक अलग तरह की कैद है। यह कैद आपको जिंदगी भर किसी और की छवि में जकड़े रखती है। आप चाहकर भी उससे आजाद नहीं हो सकते।

yakub1

फांसी पर लटका याकूब मेमन

12 मार्च 1993, मुंबई महानगर में एक डबल डेकर बस अपनी मस्ती में चली जा रही है। नन्हें-मुन्ने बच्चे जो कि इस देश के कर्णधार थे, गाते-गुनगुनाते घर या स्कूल को जा रहे थे। वे सभी वर्ग के

corruption

कुशवाह के करप्शन पर विभाग चुप

स्वास्थ्य विभाग शुरू से भ्रष्टाचार की खान रहा है। इस विभाग में जो भी अधिकारी और चिकित्सक महत्वपूर्ण जगह पहुंचता है वह अपने-अपने तरीके से विभागीय योजनाओं के फंड का दुरूपयोग

congressbhawan

निष्क्रिय पदाधिकारियों पर गिरेगी गाज

म.प्र. में पिछले 12 साल में जितने भी चुनाव हुए हैं कांग्रेस को भाजपा के हाथों पटखनी खानी पड़ी है। इसका मतलब यह नहीं की भाजपा इतनी मजबूत हो गई है कि उसका मुकाबला करने की

charcha me 00000000

थरूर: भाजपा में आएंगे जरूर!

कांग्रेस नेता और संयुक्त राष्ट्र संघ में भारत की ओर से महासचिव पद का चुनाव लड़ चुके शशि थरूर आजकल काफी चर्चा में हैं। चर्चा की कई वजहें हैं, जिनमें एक सोनिया गांधी द्वारा उनको साफगोई के

cg

छत्तीसगढ़ में कोल ब्लॉक नीलामी में खोट

देश में कोल ब्लॉकों की नीलामी प्रक्रिया शुरू हुई तो केंद्र सरकार ने राज्यों को हजारों करोड़ रूपए के मुनाफे का सपना दिखाया गया। छत्तीसगढ़ में तो कोल ब्लॉक की नीलामी से प्रदेश के बजट का

cedmap4

तिवारी के लिए सदन को किया गुमराह?

डमैप के ‘भूतपूर्वÓ ईडी जीतेन्द्र तिवारी की अभूतपूर्व गाथा के कई अध्याय अभी भी अनखुले हंै। जिन पर गौर करना बाकी है। जो यह समझते हैं कि तिवारी रुखसत हो गए हैं। वे भारी गलत फहमी

bundelkhand

शोषित बुंदेलखंड में अब कुपोषण से जंग

वीरों की धरती बुंदेलखंड आज ऐसा क्षेत्र बन गया है जिसे अभिशाप की नजर से देखा जाता है। केंद्र और राज्य सरकार ने यहां के निवासियों के उत्थान के लिए हजारों करोड़ रूपए का बजट जारी

bjp baithak

क्या भाजपा के विजय रथ को रोक पाएगा व्यापमं

मप्र में उज्जैन और मुरैना सहित 9 नगरीय निकाय के आम चुनाव और 2 निकाय के उप चुनाव का बिगुल बज गया है। यहां 12 अगस्त को मतदान होंगे। भाजपा ने हर चुनावों की तरह इस बार भी

bihar2

बिहार का असली सांप कौन -लालू, नीतीश या बीजेपी?

कभी लालू ने नीतिश को जहर कहा था अब नीतिश ने उन्हें साक्षात विषधर बता दिया। बिहार की राजनीति इतनी जहरीली कभी नहीं रही जितनी कि अभी है। सवाल यह है कि बिहार में जहरीला

1 2