vyapam

अधिसूचना नहीं तो व्यापमं कैसा?

अनेक घोटालों की ‘गंगोत्रीÓ और नेताओं से लेकर अधिकारियों के आर्थिक सशक्तिकरण का ‘गृहउद्योगÓ व्यावसायिक परीक्षा मंडल के गठन के लिए अभी तक अधिसूचना ही जारी नहीं की गई है। व्यावसायिक परीक्षा मंडल का जन्म

technical

डेपुटेशन पर तकनीकी शिक्षा विभाग

मध्यप्रदेश का तकनीकी शिक्षा विभाग डेपुटेशन पर चल रहा है। यहां अधिकारियों से लेकर व्याख्याताओं को डेपुटेशन पर आने का बेहद शौक है। आलम यह है कि जो व्यक्ति और अधिकारी जिस पद के योग्य नहीं है। उस पद पर भी

bdisrani

बने रहो पगला काम करेगा अगला

बने रहो पगला काम करेगा अगला की तर्ज पर राजकुमार पांडे ने मध्यप्रदेश विधानसभा को चलाया। उनके कार्यकाल में पुरानी एक भी जांच की फाइल पर निर्णय लेना तो दूर उन्होंने उसे देखना भी उचित नहीं समझा। विधानसभा में

hadsa

एक हादसा, कई जांच, निष्कर्ष शून्य

रतनगढ़ में सात साल के भीतर दो बड़े हादसों पर सरकार का रवैया वही टालमटोल का है। पहले जांच आयोग ने रतनगढ़ में लापरवाही की पुष्टि करते हुए कुछ अनुसंशाएं की थी बाद में सरकार ने कैबिनेट उपसमिति का गठन किया

sakshatkar

जनप्रतिनिधियों की तलाशी अनुचित

मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष सीताशरण शर्मा का मानना है कि जनप्रतिनिधियों की तलाशी लेना उचित नहीं है। बेहतर यही होगा कि वे स्वयं ही अपना आचरण सुधार लें। पाक्षिक अक्स के

देख भाई देख मंत्रालय

लंबे समय से एक अदद प्रमोशन के लिए तरस रहे राकेश अग्रवाल को मंत्रालय की पांचवीं मंजिल पर आखिर मंजिल मिल ही गई। यह पांच का आंकड़ा उनके लिए बड़ा शुभ साबित हुआ क्योंकि उनसे पहले के पांच अफसर पहले ही एसईएस बन गए थे और राकेश अग्रवाल पीछे रह गए थे। बहरहाल इस पिछडऩे के पीछे एक लंबी दास्तान है। हुआ कुछ यूं कि जब अग्रवाल आवास एवं पर्यावरण

congress12

मैं किसी का कृपापात्र नहीं : अरुण यादव

राजस्थान और मध्यप्रदेश के कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की घोषणा एक ही दिन होनी थी। किंतु मध्यप्रदेश में यह दो दिन बात हुई क्या इसके पीछे ज्योतिरादित्य सिंधिया की भूमिका थी। कहते हैं सिंधिया के कृपा पात्र होने के कारण आपको यह

mp11

योगीराज पर लोकायुक्त की नरमी क्यों?

स्वास्थ्य विभाग के तत्कालीन संचालक योगीराज शर्मा के खिलाफ  स्वास्थ्य विभाग ने एक-एक जांच फिर खोलनी चालू कर दी है। किन्तु लोकायुक्त ने अभी तक उनके खिलाफ कोई सख्त कदम नहीं उठाया है। योगिराज के विरुद्ध जितने

congress1

पुराना राग गाया वो भी बेसुरा

मध्यप्रदेश की विधानसभा में नई सरकार के पहले सत्र में उस दिन बड़ा अजीब सा नजारा था। नेता प्रतिपक्ष ने पद और गोपनीयता की शपथ तो ली, लेकिन उन्हें उनके ही दल से कोई विशेष सम्मान नहीं मिला। न तो किसी ने उन्हें उनकी

किसानों की कब्र पर वेलस्पन का बिजली घर

मध्यप्रदेश में वेलस्पन एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी द्वारा प्रस्तावित ताप विद्युतघर का विरोध दिनों-दिन तीव्रतर होता जा रहा है। दीपावली की रात जिले में उद्योग के लिए जमीन अधिग्रहित किए जाने से क्षुब्ध एक महिला ने आग लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली। कहा जाता है कि यह महिला पहले ही आत्महत्या करने की धमकी प्रशासन को एक शपथपत्र में दे चुकी थी, लेकिन उसकी धमकी पर कोई विचार नहीं किया गया।