swasthy01

बारिश में न खाएं ये 5 फूड

मानसून में बारिश की फुहार के मजे लेते हुए, अगर आप भी बाहर चाय की चुस्की और पकौड़े का लुत्फ उठाने की प्लानिंग कर रहे है, तो जरा कुछ देर के लिए इस प्लान को फुल स्टॉप लगा दें क्योंकि

swasthya2

इन्हें खाएंगे तो नहीं पड़ेंगे कभी बीमार!

लहसुन

लहसुन एक ऐसा नैचुरल एंटीबायोटिक्स है जो एंटीफंगल और एंटीवायरल का काम करता है। 1999 की एक रिसर्च में पाया गया था कि लहसुन मे विटामिन, न्यूट्रिएंट्स और मिनरल्स पाए जाते हैं जो

swasthya2

पान का पत्ता वजन घटाने में मददगार

वजन घटाने और स्लिम दिखने की चाहत रखते हैं तो पान के पत्तों से बना यह नुस्खा मददगार है। आयुर्वेद में पान के पत्तों को वजन घटाने के लिहाज से फायदेमंद माना गया है। इतना ही नहीं, इसका

उम्र बढ़ाता है व्यायाम

व्यायाम मनुष्य के लिए फायदेमंद होता है यह सभी जानते हैं, लेकिन कितनी देर का व्यायाम उसे स्वस्थ रखता है और उम्र बढ़ाता है इस पर बहस चल रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने हाई ब्लड प्रेशर

swasthya2

आजमाएँ कुदरत के नायाब नुस्खे

क्सर हम सेहत संबंधी छोटी-छोटी परेशानी में भी डॉक्टर के पास चले जाते हैं। मगर आप प्रकृति के करीब हैं तो उसके पास हर मर्ज की दवा है। ये दवाएं हर्ब्स के रूप में उपलब्ध

swasthya5

स्वाइन फ्लू से घबराएं नहीं, पर सजग रहें

विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार स्वाइन फ्लू  सबसे पहले 1998 में एक संक्रमण के रूप में सामने आया था। ये पहला समय था जब सुअरों के बीच में रहने वाले इंसानों के भीतर

swasthya1

पेट की चर्बी से छुटकारा

दिन भर की थकान और तनाव भरी जीवनशैली अगर आपका स्टैमिना कम कर रही है तो इन तीन आसनों के अभ्यास से आप दिन भर ऊर्जा बरकरार

swasthya1 copy

शिलाजीत के आयुर्वेदिक टिप्स …..!

*आयुर्वेद में शिलाजीत को बहुत लाभकारी औषधि है। अच्छा स्वास्थ्य हमारी मूल आवश्यकता है और शिलाजीत एक ऐसी ही औषधि

a4

मानसिक स्वास्थ्य सुधारने के आसान तरीके

मानसिक स्वास्थ्य भावनात्मक सलामती के स्तर का वर्णन करता है या किसी मानसिक विकार की अनुपस्थिति को दर्शाता है। मानसिक स्वास्थ्य में एक व्यक्ति के लिए जीवन का आनंद लेने की क्षमता और जीवन की गतिविधियों को हासिल करने

swasthy

सर्दी में बचाएं दिल को

ये दिल है कि मानता नहीं, बदमाशियों पर उतर ही आता है। खासकर सदियों के मौसम में। कड़कड़ाती ठंड में रम या ब्रांडी के साथ कुछ लजीज नॉनवेज और मसालेदार खाने को मन मचल ही जाता

swasthya1

एलर्जी से रहें सावधान

बदलते मौसम में एलर्जी का खतरा बढ़ जाता है। इम्यून सिस्टम में असंतुलन के चलते लोग एलर्जी के शिकार हो जाते हैं। बदलते मौसम में एलर्जिक राइनाइटिस (नाक की एलर्जी), एलर्जिक

swasthya

नहीं तो हो जाएंगी हड्डियां कमजोर

अमेरिकी या ब्रिटिश लोगों की तुलना में भारतीय लोगों की हड्डियां पारंपरिक रूप से कमजोर और विकृत होती हैं और भारतीयों में ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी विकार) होने का खतरा अधिक रहता है भारत

swasthya2

बरसाती बीमारियों से बचें

ऋतु परिवर्तन के साथ ही कुछ खास व्याधियां भी पनपने लगती हैं। अगर इनसे बचने का उपाय नहीं किया गया तो रोगग्रस्त होने की संभावनाएं अधिक बढ़ जाया करती हैं।

swastha8

मानसून में कैसे रहें फिट?

मानसून में साफ सफाई पर विशेष ध्यान देना चाहिए। सफाई में हाथों की सफाई सबसे ज्यादा आवश्यक है, इसलिए खाना खाने से पहले हाथ जरूर धुलें। अगर आप नाखून बढ़ाने के शौकीन भी हैं, तो

swasthya

ज्यादा चाय हानिकारक

यदि आप चाय बार-बार पीते हैं तो सावधान हो जाइए क्योंकि इसमें पाए जाने वाले कैफीन के कारण मूत्र की मात्रा में तीन गुना अधिक वृद्धि होती है।  चाय पीने से कैफीन से मूत्र वृद्धि होने से दूषित मल जिसका शरीर से मूत्र के रास्ते निकल

swasthya

गर्मी में स्वास्थ्य रक्षा

गर्मी के आते ही मनुष्य ही नहीं वरन् पशु-पक्षी और वनस्पति सभी प्रभावित होते हैं। ठंडे देशों के लोग हमारी अपेक्षा अधिक चुस्त और फुर्तीले होते हैं जबकि हमारे यहां मनुष्य शक्ति का ह्रास होता है।

swasthya2

गिलोय-डेंगू बुखार का इलाज!

आजकल डेंगू एक बड़ी समस्या के तौर पर उभरा है, जिससे कई लोगों की जान जा रही है। यह एक ऐसा वायरल रोग है, जिसका मेडिकल चिकित्सा पद्धति में कोई इलाज नहीं है, परन्तु आयुर्वेद में

swasthya

मानसिक स्वास्थ्य की अनदेखी न करें

बदलती जीवनशैली ने न सिर्फ लोगों के शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित किया है, बल्कि मानसिक रोगियों की संख्या भी बढ़ती जा रही है। मानसिक रोगों में सबसे आम है याददाश्त का कमजोर पड़ जाना। आजकल तो बच्चे और युवा भी

bitter-gourd-melon

करेले के मीठे गुण

करेले को कटु प्रधान प्रकृति के कारण उसका कड़वा स्वाद बहुत गर्म प्रकृति का होता है, भोजन को सहजता से पचाने में सहायक होता है। जिसके कारण शरीर को उचित मात्रा में पोषक तत्व एवं शक्ति प्राप्त होती रहती है। इसके निम्न गुण हैं 

swasthya2

इर्रिटेबल बॉउल सिन्ड्रोम

हममें से बहुत से लोग ऐसे होंगे जो किसी प्रकार का मानसिक दबाव होने पर बार-बार मोशन या टायलेट की हाजत महसूस करते हैं। डॉक्टरों के अनुसार इर्रिटेबल बॉउल सिन्ड्रोम नामक यह रोग पाचन तंत्र की समस्या होने के साथ-साथ तनाव

swasthya

धड़कनें रुक जाएं तो आजमाएं ये उपाय

हार्ट अटैक के दौरान दिल की धड़कन रुकने से जान जाने का खतरा सबसे अधिक होता है। ऐसे में अगर आप थोड़ी सतर्कता बरतें तो अगले दस मिनट के भीतर दिल की धड़कन लौटने की गुंजाइश हो सकती है। हार्ट अटैक से मरने वाले व्यक्ति

swastya--01

..तो रोज करें ये एक्सरसाइज

चेहरे पर जमा चर्बी या डबल चिन न सिर्फ आपके लिए मोटापे का अलार्म है बल्कि यह आपके व्यक्तित्व की रौनक खत्म कर देता है। इसे छिपाने के लिए आप कितना ही मेकअप क्यों न थोपें, इनसे हमेशा

paryavaran3

क्या वाकई कारगर हैं वजन घटाने की ये कसरतें

वजन घटाने के लिए आप कितनी मशक्कत करते हैं? जमकर एक्सरसाइज करते हैं और फिर भी आपके वजन में कोई अंतर नजर ही नहीं आता। अगर आपके साथ कुछ ऐसा ही है तो जनाब आपकी मेहनत में

स्मरण शक्ति और बुद्धि बढ़ाने वाली ब्राह्मी

ब्राह्मी को यह नाम उसके बुद्धिवर्धक होने के गुण के कारण दिया गया है। इसे जलनिम्ब भी कहते हैं क्योंकि यह प्रधानत: जलासन्न भूमि में पाई जाती है। मुख्यत: यह हिमालय की तराई, बिहार तथा उत्तर प्रदेश आदि में नदी नालों के किनारे

swasthya

लंबी यात्रा में हमेशा बैठे न रहें

यात्रा के दौरान लंबे समय तक एक ही मुद्रा में बैठे रहने से टांगों में खून का थक्का बनने का डर रहता है। यह काफी नुकसानदेह होता है। चार घंटे से अधिक की यात्रा में कई बार खून का थक्का बनना

swasthya

यह मौसमी खांसी है या कुछ और?

मौसम में अचानक बदलाव आने पर आप अकसर अपने आसपास लोगों को छींकते और खांसते देख सकते हैं। दरअसल मौसम में बदलाव के साथ-साथ लोगों का खांसी के प्रभाव में आना बहुत ही आम

swasthya

व्यायाम से कंट्रोल होगा ब्लड प्रैशर

हाई ब्लडप्रेशर एक गंभीर समस्या है। अनियमित खान-पान, गैस, अनिद्रा और नमक के अधिक सेवन से यह बीमारी पैदा हो जाती है। उच्च रक्तचाप के रोगी को एल्कोहल का सेवन नहीं करना चाहिए

swasthya

क्यों होता है बैक पेन?

कई लोगों को इस बात का बिल्कुल भी एहसास नहीं होता है कि बैठने और चलने की सही अच्छी मुद्रा क्या होती है। गलत तरीके से बैठने की वजह से इसका असर आपकी रीढ़ की हड्डी को भुगतना

swasthya

तन-मन को फिट रखने के जरूरी उपाय

करीब सभी धर्मो में ध्यान की कुछ न कुछ विधियां प्रचलित हैं। एक कर्मकांड मान कर आज तक लोग इस पर ध्यान नहीं देते थे, लेकिन नए जमाने की ‘लाइफ स्टाइलÓ में बीमारियों में ध्यान काफी उपयोगी साबित हो रहा है।

swasthya

फलों से पूरा फायदा चाहिए तो इन बातों का रखें ध्यान

आपकी डाइट में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने के लिए फलों से बेहतर कोई विकल्प नहीं हो सकता है। आप कौन से फल कब खाते हैं, कितनी मात्रा में खाते हैं जैसी कुछ जरूरी बातों का ध्यान

बीमारी के समझो इशारे…

अक्सर यह देखा जाता है कि किसी मरीज की बीमारी, मुख्य समस्या न होकर किसी अन्य बीमारी का लक्षण मात्र होती है। इसे ‘शेडो डिजीजÓ भी कहा जाता है। माइग्रेन और दिल की बीमारी का

swasthya

स्वाइन फ्लु बना महामारी

भारत के उत्तरी राज्यों में स्वाइन फ्लु से होने वाली मौतों के आंकड़े ने जब 106 की संख्या पार कर ली तो फिर से लोगों के जेहन में हाल ही में इस बीमारी की याद ताजा हो गई। पिछली बार स्वाइन फ्लु

swasthya

आदतें बढ़ाती हैं तनाव

दिन भर ऑफिस में काम और भागदौड़ के बीच आज तनाव हमारे लिए समस्या नहीं बल्कि रुटीन का हिस्सा बन चुका है। आप अपने बढ़ते तनाव के लिए कभी कामकाज और दफ्तर के माहौल को