jyotish

रुद्राक्ष के कुछ ज्योतिषीय उपाय

विजो रूद्राक्ष आंवले के आकार जितना बड़ा होता है वह रूद्राक्ष अच्छा होता है, जो रूद्राक्ष एक बदारी फल (भारतीय बेरी) के रूप में होता है वह मध्यम प्रकार का माना जाता है. जो रूद्राक्ष चने के जैसा

lord-ganesh

गणेश को मनाओ खुश हो जाओ

गणपति गणों एवं शुभ संकल्प पूर्ति के आदि देव माने गए हैं। ज्योतिषीय राशिनुसार भगवान गणेश का पूजन और आराधना करने से सभी प्रकार की समस्याएं जैसे रोग, आर्थिक समस्या, भय,

jyotish

संतान योग

कुण्डली का पांचवा घर संतान भाव के रूप में विशेष रूप से जाना जाता है (ञ्जद्धद्ग द्घद्बद्घह्लद्ध द्धशह्वह्यद्ग शद्घ ह्लद्धद्ग रुड्डद्य ्यद्बह्लड्डड्ढ ह्यह्लड्डठ्ठस्रह्य द्घशह्म् श्चह्म्शद्दद्गठ्ठ4)। ज्योतिषशास्त्री इसी भाव

jyotish -1

वास्तु के सात दोष जिनसे होता है आर्थिक नुकसान

  वास्तु विज्ञान में कुछ ऐसे दोषों का उल्लेख किया गया है जिनके घर में होने पर अक्सर आर्थिक परेशानी

jyotish 3

जिन्हें घर में रखने से बरसता है धन

आर्थिक रूप से आप परेशान रहते हैं तो चिंतित होने की बजाय वास्तु विज्ञान के उन उपायों को आजमाएं जिनसे आपकी आर्थिक परेशानी दूर हो सकती है।

jyotish

भारतीय ज्योतिष और नवरात्रि पर्व

काल (समय) चक्र के विभाग अनुसार पूरे एक दिन-रात में चार संधिकाल होते हैं। जिनको हम प्रात: काल, मध्यान्ह काल, सांयकाल और मध्यरात्रि काल कहते हैं. जब हमारा

jyotish

सात दिन के सात लकी कलर

रंग व्यक्तित्व को निखारते हैं। खुशी का अहसास कराते हैं। रंगों का अपना एक विशेष महत्व है।  मन की भावनाएं भी दर्शाते हैं तो क्या रंग हमारे भाग्य को तय करने में भी कोई भूमिका निभाते हैं? कुछ

jyoatish4 copy

हस्तरेखा से विवाह काल का ज्ञान

विवाह का समय, वैवाहिक जीवन, स्वास्थ्य आदि का ज्ञान जिस प्रकार जन्म कुण्डली में विवाह स्थान से ज्ञात होता है, उसी प्रकार हस्त रेखा में विवाह रेखा स्पष्ट करती है।

jyotish

झूठ…

सुबह की उस घटना के बाद शिल्पा का मन बहुत उदास था। किसी भी काम में मन नहीं लग रहा था। उसका मन बार-बार आशंकित हो उठता। ‘आखिर मेरी परवरिश में ऐसी कौन सी कमी रह गई जो

sss

प्रकृति, ऋतु परिवर्तन और कृषि: मकर संक्रान्ति

मकर संक्रान्ति हिन्दुओं का प्रमुख त्यौहार है। इस त्यौहार का सम्बन्ध प्रकृति, ऋतु परिवर्तन और कृषि से है। ये तीनों

jyotish2

नवग्रहों के पूजन का महत्व

सभी प्रकार की पूजाओं में नवग्रह पूजन का विशेष महत्त्व है। यज्ञानुष्ठान की क्रिया नवग्रह स्थापना के बिना अपूर्ण ही

jyotish2

नवग्रहों के पूजन का महत्व

सभी प्रकार की पूजाओं में नवग्रह पूजन का विशेष महत्त्व है। यज्ञानुष्ठान की क्रिया नवग्रह स्थापना के बिना अपूर्ण ही

jyotish3

घट चौदस और ज्योतिष

ज्योतिष की नजर में कार्तिक कृष्ण चतुदर्शी का महत्व दीपावली के समान ही है क्योंकि इस दिन कई ऐसे ज्योतिषीय कर्मकांड किए जाते हैं, जो वर्षभर लाभदायी होते हैं। कई तंत्र-मंत्रों को इसी दिन

jyotish11

तंत्र साधना और शक्तिपीठ

सभी 52 शक्तिपीठों में आदिशक्ति का मूर्ति स्वरूप नहीं है, इन पीठों में पिंडियों की आराधना की जाती है। साथ ही सभी पीठों में शिव रूद्र भैरव के रूपों की भी पूजा होती है। इन पीठों में कुछ तंत्र

jyotish

छोटे-छोटे उपाय सुख-समृद्धि लाएं

ज्योतिष के मुताबिक धनेश का छठे, आठवें, बारहवें भाव में स्थित होना धन बाधा योग का निर्माण करता है। कुछ छोटे-छोटे उपाय अपनाकर इन बाधाओं को दूर किया जा सकता है। वर्ष भर आपके घर

jyotish

गणेश चतुर्थी ज्योतिष की नजर में

श्री भगवान गणेश रिद्धि-सिद्धि के दाता देवताओं के भी देव हैं। प्रथम पूज्य गणेश मनुष्य तो क्या देवताओं के भी कार्य सिद्ध करने के लिए आदि, अनंत, अखंड, अद्वैत, अभेद, सुभेद जिनको वेदों ने,

jyotish

राशि अनुसार हो गणेश पूजन तो मिटेगा दुख-संकट

गणपति गणों एवं शुभ संकल्प पूर्ति के आदि देव माने गए हैं। ज्योतिषीय राशिनुसार भगवान गणेश का पूजन और आराधना करने से सभी प्रकार की समस्याएं जैसे रोग, आर्थिक समस्या, भय,

jyotish

सावन का महत्व

हिन्दू कैलेण्डर के बारह मासों में से सावन का महीना अपनी विशेष पहचान रखता है। इस माह में चारों ओर हरियाली छाई रहती है। ऐसा लगता है मानों प्रकृति में एक नई जान आ गई है। वेदों में

ghotala1

मानसून का पूर्वानुमान

वर्षा का पूर्वानुमान मौसम विभाग तो लगाता ही है, ज्योतिष भी इसमें सक्षम है। मौसम विभाग करोड़ों रुपये व्यय करता है, परंतु अनुमान फिर भी गलत हो जाता है। ज्योतिष पर कोई व्यय नहीं होता,

jyotish

उपाय जिनसे सुख शांति और धन बढ़ता है

जीवन में कई बार उतार-चढ़ाव और विपरीत स्थितियों का सामना करना पड़ता है। व्यक्ति आर्थिक परेशानी और मानसिक तनाव के कारण परेशानी महसूस करता है। ऐसे समय में कुछ लोग वास्तुशास्त्री

jyotish

तंत्र शास्त्र में काली हल्दी

तंत्र शास्त्र में काली हल्दी अर्थात कृष्णा हरिद्रा को चमत्कारी माना गया है। सही समय और सही विधि के अनुसार यदि तांत्रिक उपाय किए जाएं तो जातक को मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है। किसी श्रेष्ठ मुहूर्त में नित्य कर्मों से निवृत्त होकर

adhyatm12

निराशा से मुक्ति के लिए नवदुर्गा आराधना

कर्यक्षेत्र या परिवार से जुड़े मामलों में कई अनचाहे परिणाम कुछ मौकों पर गहरे अवसाद में डूबो देते हैं। दरअसल काम और सफलता में संकल्प शक्ति निर्णायक होती है। कठोर संकल्प शक्ति के बिना मनोबल दम तोड़ देता है। इससे कर्म

jyotish

बदनामी से बचना है तो स्त्री पुरुष इस बात का रखें ध्यान

हर व्यक्ति चाहता है कि उसे समाज में मान-सम्मान मिले। लेकिन कई लोगों के जीवन में कुछ ऐसे हालात बन जाते हैं कि उन्हें बार-बार बदनामी का सामना करना पड़ता है। वास्तु गुरु कुलदीप

jyotish

विवाह में हो रही हो देरी तो…

जब कोई आदमी किसी परेशानी में फंस जाता है या किसी समस्या से छुटकारा नहीं मिलता है, तो हम किसी जानकार या बुजुर्ग व्यक्ति से इसकी चर्चा करते हैं। बुजुर्गों और अनुभवी लोगों के पास कभी-कभी ऐसे अभूतपूर्व टोटके निकल

jyoriag1

सकारात्मक शक्तियां और खुशहाल जीवन

खुश कौन नहीं रहना चाहता? इसलिए भारतीय संस्कृति में वास्तुशास्त्र और फेंगशुई का चलन बढ़ा। वाकई, घर में सकारात्मक शक्तियों के फैलाव से खुशहाली पनपती है।

jyotish

भाग्यशाली लोगों को होती है कन्या

कन्या संतान उन्हीं लोगों के होती है जो परम भाग्यवादी योग वाले होते हैं, साथ ही अगले जन्म में कन्यादान के महापुण्य के कारण पुण्यलोक को प्राप्त कर आनंदित रहते हैं। भारतीय संस्कृति में कहा गया है यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र

jyotish

दीपावली पर धन-प्राप्ति के चमत्कारी प्रयोग

दीपावली के दिन घनी काली अंधेरी रात होती है। काली अंधेरी रात या कोई भी अंधकार कष्ट का प्रतीक माना गया है, क्योंकि अंधकार में मार्ग दिखाई नहीं देता, व्यक्ति रास्ता भटक जाता है। मन में जब तक दुख: का, गम का अंधेरा रहेगा,

jyotish

पितृदोष निवारण के लिए पितृपक्ष के श्राद्ध

भारतीय वैदिक वांगमय के अनुसार प्रत्येक मनुष्य को इस धरती पर जीवन लेने के पश्चात तीन प्रकार के ऋण होते हैं। पहला देव ऋण, दूसरा ऋषि ऋण और तीसरा पितृ ऋण। पितृ पक्ष के श्राद्ध यानी 16

jyotish

मनचाहा धन देता है संकटनाशक गणेश स्तोत्र

मनचाहे धन की प्राप्ति हेतु श्री गणेश के चित्र अथवा मूर्ति के आगे संकटनाशन गणेश स्तोत्र के 11 पाठ करें।
प्रणम्यं शिरसा देव गौरीपुत्रं विनायकम।

jyotish

अनजाने किन्तु प्रभावशाली अपशगुन

अपने घर या कार्यालय अथवा व्यवसायिक स्थल में कुछ ऐसे अपशकुन हो जाते है जिसके बारें में हमें बिलकुल ज्ञात नही होता और उसी का परिणाम हम लोग को भुगतना पड़ता है। आज इसी विषय पर चर्चा

jyotish

सावन सोमवार का महत्व

हलाहल विष से संयुक्त साक्षात मृत्यु स्वरूप भगवान शिव यदि समस्त जगत को जीवन प्रदान कर सकते हैं। यहाँ तक कि अपने जीवन तक को दाँव पर लगा सकते हैं तो उनके लिए और क्या अदेय ही रह

jyotish

36वां साल ऐसे लोगों के लिए होता है भाग्यकारक

शनिवार के स्वामी शनिदेव हैं। इनका अंक आठ माना गया है। जिन लोगों का जन्म इस दिन होता है उन पर शनि महाराज का प्रभाव रहता है। ऐसे व्यक्ति कुछ करने की ठान लें तो पूरी ताकत लगा देते हैं। वैसे इन्हें सोना अधिक पसंद

jyotish

चमत्कारी है बांसुरी

आपको ये जान कर आश्चर्य होगा कि बांसुरी कितने कमाल की है। वैसे तो कई तरह की बांसुरियां होती है जो अलग अलग असर दिखाती है लेकिन बांस से बनी बांसुरी और चांदी की बांसुरी विशेष

jyotish

संतानहीनता एवं ज्योतिष

यहाँ मैं कुछ एक महाशय का संदेह दूर करना चाहूंगा कि मैं न तो कोई चिकित्सक हूँ और न ही कोई व्यावसायिक या पंजीकृत ज्योतिषाचार्य। मेरे पास न तो कोई औषधि उपलब्ध है और न कोई

jyotish

विदेश यात्रा कराने वाले योग

एक जमाना था जब विदेश जाना दुर्भाग्य माना जाता था लेकिन आज स्थिति बिल्कुल बदल चुकी है। आज उसे भाग्यशाली माना जाता है जिनकी कुण्डली में विदेश यात्रा का योग होता है। युवाओं में

jyotish

वास्तुकला की महत्ता

प्रकृति, बुद्धि एवं रुचि द्वारा निर्धारित और नियमित कतिपय सिद्धांतों और अनुपातों के अनुसार रचना करना इस कला का संबद्ध अंग है। नक्शों और पिंडों का ऐसा विन्यास करना और संरचना को अत्यंत

jyotish

शनि साढ़ेसाती के तीन चरण

शनि साढेसाती में शनि तीन राशियों पर गोचर करते है। तीन राशियों पर शनि के गोचर को साढ़ेसाती (स्द्धड्डठ्ठद्ब स्ड्डस्रद्ग स्ड्डह्लद्ब) के तीन चरण के नाम से भी जाना जाता है। अलग- अलग

jyotish

वास्तुशास्त्र में भवन और जल

वास्तुशास्त्र वर्तमान काल में व्यक्ति के जीवन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जब से हमारे समय के लोगों ने वास्तुशास्त्र के बारे में जाना है तब से वास्तुशास्त्र का भवन बनाने में बहुतायत से इस विद्या का प्रयोग किया जाने लगा है इस बारे में कोई दो राय नहीं है कि यदि भवन निर्माता वास्तुशास्त्र का अध्ययन

jyotish

कुंडली और सावधानियां

पूजा-पाठ में तो हम पंडित से सलाह-मशवरा ले लेते हैं, लेकिन कई अन्य काम ऐसे होते हैं, जिनमें आप किसी से सलाह नहीं लेते और वो काम करने के

jyotish

नाम का पहला लेटर U A है तो होंगे रोमांटिक

वैदिक ज्योतिष के अनुसार व्यक्ति का नामकरण शुभ मुहूर्त हो और जिस नक्षत्र में व्यक्ति का जन्म हुआ उस नक्षत्र से प्रभावित अक्षर से व्यक्ति का नाम

jyotish

रेखाओं में छुपा है आयु का वरदान

सामुद्रिक शास्त्र समुद्र के समान अथाह सागर है। इसमें जो जितना पारंगत होता है, वो उतना ही जान पाता है। हाथ की रेखाएं सदैव एक समान नहीं रहतीं। यह रेखाएं बनती-बिगड़ती रहती हैं, अत:

1 2