cover01

एक्साइज ड्यूटी में करोड़ों की चपत

15 साल बाद कांग्रेस ने मप्र की सत्ता में वापसी तो कर ली है, लेकिन पूर्ववर्ती सरकार की गलत नीतियों

cover-FEB__I__2019

नया भारत कितना नया?

हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त

cover-01

राम मंदिर… वोट का जुगाड़ तंत्र?

यह बड़ी आश्चर्यजनक विडंबना है कि विश्व के सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश भारत की राजनीति राम भरोसे हैं और रामजी

May--I-2018cover-all-page

किसान सरकारों से नाखुश क्यों…?

भारत में किसान और खेती-किसानी भले ही सरकारों की प्राथमिकता में हैं, लेकिन व्यवस्था हमेशा उनके लिए खलनायक बनी रहती

March--I-2018cover-all-page

बिखरी कांग्रेस से हारती भाजपा!

बिखरी कांग्रेस से हारती भाजपा!बेहिसाब धन खर्च करके इवेंट मैनेजरों के सहारे सभाओं में भीड़ तो जुटाई  जा सकती है

Untitled-1

10 साल में न खेती न कारखाने ‘सेजÓ पर ऐश

मप्र में सियासत, कार्पोरेट, अफसरशाही की मिलीभगत से विकास के कागजी घोड़े दौड़ाए जा रहे हैं। इस कारण कभी जेट्रोफा

SEP-2-cover-final

दो साल चुनौतियां बेसुमार

यूपीए सरकार के आखिरी सालों में जब उसकी नीतियां लडख़ड़ाने लगीं, भ्रष्टाचार चरम पर पहुंच गया, महंगाई लोगों को सताने

SEP-2-cover-final0

सूख गए खेत, हलक भी सूखा

मानसून हुआ बेईमान…नदी-नाले, बांध-तालाब-नहरों की सूखने लगी जान…पहले फसल सूखी, अब खेतों में पडऩे लगी दरार…नल-जल योजनाओं का काम हुआ

cover-SEP-1--2017

शिवराज जरूरी भी, मजबूरी भी…!

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, भाजपा संगठन, एजेंसियों की रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि मप्र में मंत्री नाकाम, विधायक और

Cover-August-II-AJAY0

अफसरों ने बिगाड़ा जमीनों का खेल

मप्र में राजस्व विभाग कभी भी सरकार की प्राथमिकता में नहीं रहा है। इस कारण प्रदेश में जमीनों का नक्शा

cover01-copy

सरदार सरोवर बांध विस्थापन की फांस

सरदार सरोवर बांध के विस्थापित परिवारों का विस्थापन  मप्र सरकार के लिए गले की फांस बन गया है। विस्थापन को

1 2 3